Jammu Kashmir: जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनाव को लेकर आई यह खबर

बत दें कि खबर यह है कि जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनाव-2024 की तैयारियों और मतदाता सूचियों की जारी सारांश पुनरीक्षण प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति का चुनाव ओयोग मंगलवार को बैठक कर समीक्षा करेगा। साथ ही इस बैठक में प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी पीके पोले और सभी 20 जिलों के जिला उपायुक्त भाग लेंगे। वर्चुअल मोड पर दोपहर बाद शुरू होने वाली इस बैठक में चुनाव आयेाग और प्रदेश निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल होंगे।
जानकारी के अनुसार संबंधित अधिकारियों ने बताया कि बैठक में जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनाव को लेकर की जा रही तैयारियों पर चर्चा होगी। इसमें यहां में भौगोलिक और सुरक्षा चुनौतियों को लेकर भी बात होगी। इसके अलावा प्रदेश में जारी मतदाता सूचियों की सारांश पुनरीक्षण प्रक्रिया की भी समीक्षा की जाएगी। जम्मू कश्मीर में मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन आठ जनवरी, 2024 को किया जाएगा। बैठक में जम्मू कश्मीर में चुनाव के समय तैनात किए जाने वाले कर्मचारियों, चुनाव पर्यवेक्षकों, सुरक्षाकर्मियों और वोटिंग मशीनों से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर बात होगी और सभी जिला उपायुक्त जो अपने अपने जिले में जिला चुनाव अधिकारी भी हैं, चुनाव के संदर्भ में अपनी आवश्यकताओं से भी चुनाव आयोग को अवगत कराएंगे।

बैठक में जम्मू कश्मीर की पांच संसदीय सीटों पर एक साथ या अलग-अलग चरणों में चुनाव कराने पर भी बातचीत होगी। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि गत दिनों जब मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने प्रदेश में जारी चुनाव की तैयारियों पर बैठक की थी तो संबंधित जिला उपायुक्तों ने सुझाव दिया था कि प्रदेश की पांच सीटों पर अलग-अलग चरणों में ही मतदान कराया जाए। इससे सुरक्षा बलों को आसानी होगी। प्रदेश में विधानसभा चुनाव कराए जाने के संदर्भ में उक्त अधिकारी ने कहा कि यह फैसला चुनाव आयोग लेगा, इस विषय में जो दिशा निर्देश होगा, प्रदेश निर्वाचन कार्यालय उसी के मुताबिक काम करेगा। अलबत्ता, मंगलवार की बैठक का एजेंडा लोकसभा चुनाव ही है।